जानिए कैसे एक इंजिनियर बन गया सीरियल किलर, फिल्मी अंदाज में किए 20 कत्ल

नई दिल्ली (26 जुलाई): वो बेहद शातिर और खूंखार है। वो अब तक एक नहीं, दो नहीं बल्कि 20 कत्लों को अंजाम दे चुका है। मामला हाजीपुर का है, जहां पुलिस ने अविनाश कुमार को बैंक में चोरी करते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार किया,लेकिन पुलिस को मालूम नहीं था कि उसने किसे गिरफ्तार किया है। जब पूछताछ शुरू हुई तो, अविनाश कुमार ने जब अपना क्रिमिनल बैकग्राउंड पुलिस को बताया तो पुलिस के पैरों तले जमीन खिसक गई। 

> इसके पिता एमएलसी थे, जिनका कुछ लोगों ने कत्ल कर दिया। इसके बाद मास्टर ऑफ कम्यूप्यर की पढ़ाई कर चुका एक साफ्टेवेयर इंजीनियर हार्डकोर क्रिमिनल बन गया। > इसने अपने पिता के कत्ल का बदला लेने के लिए 4 लोगों का कत्ल कर दिया। दो लोग इसलिए बच गए क्योंकि वो जेल में थे। > 2003 में अविनाश ने पिता की हत्या के मुख्य आरोपी मोईन खान को फिल्मी अंदाज में 32 बार गोलियों से भूना। > इसके बाद अविनाश कभी नहीं रुका, एक के बाद एक कत्ल पर कत्ल करता चला गया और कत्ल के साथ लूट, डकैती जैसी वारदातों को भी अंजाम देने लगा। > वो हर कत्ल के वक्त नीली शर्ट और पैंट पहनता था और उसे सिर्फ किलर ब्रैंड की जींस ही पसंद थी, क्योंकि वो खुद एक खूंखार किलर था।  > अविनाश बेहद पढ़ा-लिखा हैं। नामी कंपनी में नौकरी कर चुका है।  > कभी उसकी उंगुलियां कप्यूटर के की बोर्ड पर नाचती थी और फिर वो उंगलियां ताबड़तोड़ ट्रिगर दबाती रहीं। बिना रुके गोलियां बरसाती रहीं।

बहरहाल अब अविनाश कुमार द किलर पुलिस की गिरफ्त में है। हाजीपुर पुलिस पटना पुलिस से अविनाश के क्रिमिनल रिकॉर्ड के बारे में तफ्तीश कर रही है।