अब नहीं बैंक जाने की जरूरत, आपके घर ही आएगा बैंककर्मी


नई दिल्ली (10 नवंबर): भारतीय रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों को एक निर्देश जारी किया है, जिसके बाद अब घर बैठे ही वरिष्‍ठ ना‍गरिक और शारीरिक रूप से अक्षम लोगों को उनके घर पर ही बैंकिंग सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।

भारतीय रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों को कहा है कि 70 साल से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों तथा शारीरिक रूप से अक्षम लोगों को इस साल दिसंबर तक उनके घर के दरवाजे पर बैंकिंग सुविधाएं प्रदान कराई जाए। ऐसे लोगों को घर पर ही नकदी पहुंचाना, जमा कराना, चेक बुक और डिमांड ड्रॉफ्ट पहुंचाना उपलब्ध कराया जाएगा।

रिजर्व बैंक ने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों तथा शारीरिक रूप से अक्षम लोगों को बैंकों को बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध कराने का समन्वित प्रयास करना चाहिए। बैंकों को कहा गया है कि वे 31 दिसंबर, 2017 तक शब्द और भावना के अनुरूप इन निर्देशों का क्रियान्वयन करें। बैंक शाखाओं और वेबसाइट पर इसका ब्योरा उपलब्ध कराया जाना चाहिए।

इसके अलावा बैंकों से कहा गया है कि वे ऐसे ग्राहकों से अपने ग्राहक को जानिये (केवाईसी) से संबंधित दस्तावेज और जीवन प्रमाणपत्र भी उनके घर जाकर लें। बैंकों से वरिष्‍ठ नागरिकों की इस परेशानी को लेकर लंबे समय से यह मांग की जा रही थी। खासतौर पर दिव्‍यांगों के लिए, क्‍योंकि अधिकतर बैंक शाखाओं में इनके लिए सुविधाएं ही नहीं हैं। कई जगह बैंक पहली या दूसरी मंजिल पर होते हैं, वहीं कई बार बैंकों में काउंटर्स आदि पर भी इनके लिए विशेष व्‍यवस्‍था नहीं होती है।