सेल्फी मामले में पंकजा मुंडे ने दी यह सफाई

मुंबई (18 अप्रैल): महाराष्ट्र की मंत्री पंकजा मुंडे ने अपनी सेल्फी पर सफाई दी है। मंत्री पंकजा का कहना है कि वो लातूर अपने विभाग का कामकाज देखने गई थीं, जहां उन्होंने सेल्फी ली। उन्होंने कहा कि उन्होंने अतिउत्साह में ये फोटो नहीं खींची।

पंकजा मुंडे ने कहा कि उन्होंने लातूर में पानी की समस्या को लेकर कई मीटिंग कीं। कई जगहों पर पानी के लिए खुदाई भी हुई लेकिन असफलता मिली। रविवार को साईं बैराज पर हमें पानी मिला, जिससे थोड़ी राहत और खुशी मिली। उन्होंने कहा, 'पानी मिलने पर मुझे बेहद खुशी हुई और मैंने इसकी तस्वीर खींचने के बारे में सोचा जो कि मैं आमतौर पर नहीं करती। यह खुशी रेगिस्तान में पानी जैसी ही थी। यह किसी समारोह में खींची गई तस्वीर नहीं है, लेकिन कुछ लोगों ने इसे दूसरा रंग देने की कोशिश की।'

पंकजा ने कहा कि ऐसी कहानियों से किसी की इज्जत उछालकर लोगों को क्या मिलेगा और इससे किसानों का क्या भला होने वाला है? यह तस्वीर 45 डिग्री में खींची गई थी, यह एक्साइटमेंट नहीं सैटिस्फैक्शन था।

आपको बता दें कि पंकजा मुंडे लातूर जिले के सूखा प्रभावित इलाकों में कामों का जायजा लेने पहुंची थीं। वहां जल योजनाओं और अन्य सरकारी कामों के बैकग्राउंड पर उन्होंने सेल्फी खींची। पंकजा मुंडे ने जल परियोजना और बांध जैसी जगहों की तस्वीरें और सेल्फी साझा की थीं। सेल्फी विवादों को लेकर पंकजा मुंडे ने सोमवार को कैबिनेट मीटिंग में भी हिस्सा नहीं लिया। उन्होंने हीट स्ट्रोक को वजह बताते हुए कैबिनेट बैठक से किनारा किया।

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=JO3ugYny_jU[/embed]