वीडियो: ... तो इस वजह से सहवाग मैदान में बजाते थे सीटी

नई दिल्ली(13 मार्च): टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग मैदान पर अपने कूल स्वभाव के लिए जाने जाते थे। क्रिकेट में उन्होंने कई रिकॉर्ड अपने नाम किए। सहवाग गेंदबाजों के लिए जितने खतरनाक, असल जीवन में वो बेहद मस्त रहते हैं। एक इंटरव्यू के दौरान सहवाग ने इसी अंदाज के बारे में खुल कर बात की।

सहवाग ने विक्रम साठये को दिये गए इंटरव्यू में क्रिकेट के कुछ अनसुने किस्सों का खुलासा किया है। एक शो ‘व्हाट द डक’ के दौरान विक्रम साठये ने सहवाग से बातचीत करते हुए पूछा कि उनको एक बार राहुल द्रविड़ ने बताया था कि सहवाग बल्लेबाजी के दौरान सीटियां बजाता है। इसके जवाब में सहवाग ने बताया कि वो ऐसा इसलिये करते थे क्योंकि नया बल्लेबाज जब विकेट पर आता है तो उस पर दबाव होता है अगर मैं उसको ये कहता हूं कि गेंद स्विंग कर रही है या सीम हो रही है तो वो और दबाव में आ जाता। नए बल्लेबाज के ऊपर दबाव ना बने इसलिये वो सीटियों से उसका स्वागत करते थे।

सहवाग ने टाइम मैगजीन से जुड़े एक किस्से का जिक्र करते हुए बताया है कि उनके इलाके में टाइम मैगजीन को कोई जानता नहीं था इसलिये उन्होने कई बार टाइम मैगजीन को इंटरव्यू देने से मना कर दिया था। लेकिन बाद में एक दोस्त के कहने पर उन्होने इंटरव्यू दिया। सहवाग को टाइम मैगजीन ने अपने कवर पेज पर भी छापा था। श्रीलंका दौरे पर अजंता मेंडिस को लेकर सहवाग ने बताया था कि उस दौर में सभी भारतीय बल्लेबाज क्रीज पर जाने से पहले मेंडिस की गेंदबाजी की वीडियो टेप देखते थे उन्होने वो टेप नहीं देखी और जब वो विकेट पर गए तो वो सारे बल्लेबाज आउट हो रहे थे जिन्होने टेप देखी थी। सहवाग ने बताया कि इसका कारण ये था कि वो मेंडिस को पिक कर रहे थे, उन्होने बताया कि मेंडिस जब भी गूगली डालता था तो उसकी सबसे छोटी अंगुली उपर की तरफ आती थी इसलिये उनको पहले से ही पता चल जाता था कि गेंद गुगली है और वो उस पर छक्का या चौका जमा देते थे।

देखें वीडियो

[embed] https://www.youtube.com/watch?v=b4mSbX7o24c[/embed]