व्हाट्सएप में मिली यह बड़ी गड़बड़ी, हैक कर पढ़े जा सकते हैं आपके निजी मैसेज

नई दिल्ली ( 17 मार्च ): एक कंप्यूटर सिक्योरिटी फर्म ने व्हाट्सएप को उसकी एक बड़ी गलती ढूढ़ निकाली है। जी हां चेक प्वाइंट सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी ने व्हाट्सएप और टेलिग्राम मैसेजिंग एप्स में एक ऐसी कमी ढूंढी है, जिससे हैकर्स इन एप्स को आसानी से हैक कर सकते हैं। चेक प्वाइंट सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी एक सिक्योरिटी फर्म है।


चेक प्वाइंट ने टेलिग्राम और व्हाट्सएप को पिछले हफ्ते इस बारे में बताया है। चेक प्वाइंट ने यह साफ किया है कि इससे सैकड़ों यूजर्स के मैसेजिंग अकाउंट को खतरा है। साथ ही चेक प्वाइंट ने यह भी जानकारी दी है कि जो यूजर्स मोबाइल से इन एप्स को इस्तेमाल करते हैं, उनसे ज्यादा उन लोगों के अकाउंट को खतरा है, जो कंप्यूटर के वेब ब्राउजर्स से इनका इस्तेमाल करते हैं।


चेक प्वाइंट ने कहा, "इस कमी के जरिए हैकर्स सैकड़ों व्हाट्सएप वेब और टेलीग्राम वेब यूजर्स का डाटा चुराया जा सकता है। हैकर केवल एक फोटो भेजकर यूजर के अकाउंट पर पूरी तरह कंट्रोल कर सकता है। इसमें यूजर्स के मैसेज, फोटोज, वीडियोज आदि चुराए जा सकते हैं।" इस फर्म के मुताबिक, इन मैसेजिंग एप्स में सुरक्षा की कमी के कारण ये संभव हो गया है कि हैकर्स किसी डिजिटल इमेज के साथ malicious code भेजकर मात्र उस फोटो पर क्लिक होने पर निजी जानकारी चुरा सकते हैं।


आपको बता दें कि व्हाट्सएप और टेलिग्राम एंड-टू-एंड एनक्रिप्शन का इस्तेमाल करते हैं, जिससे केवल मैसेज भेजने वाले और उसे रीसीव करने वाले यूजर्स ही मैसेज पढ़ सकते हैं। इस फर्म के अनुसार, इन एप्स में प्राइवेसी का एक दुष्प्रभाव भी है। जो इस अंतर को बताने में असमर्थ है कि मैसेज भी malicious code है या नहीं।