Blog single photo

विश्व हिंदू परिषद और शिवसेना के कार्यक्रम से पहले अयोध्या में लगी धारा 144

शिवसेना और विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के कार्यक्रमों को लेकर अयोध्या में हलचल तेज हो गई है। निर्णायक संघर्ष की बात कहते हुए 'कसम राम की खाते हैं, हम मंदिर वहीं बनाएंगे..' जैसे स्लोगन लिखे पत्रक लोगों में बांटकर माहौल गरमाया जा रहा है। धर्मसभा में लाखों राम भक्तों के आने का दावा किया जा रहा है।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21 नवंबर): शिवसेना और विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के कार्यक्रमों को लेकर अयोध्या में हलचल तेज हो गई है। निर्णायक संघर्ष की बात कहते हुए 'कसम राम की खाते हैं, हम मंदिर वहीं बनाएंगे..' जैसे स्लोगन लिखे पत्रक लोगों में बांटकर माहौल गरमाया जा रहा है। धर्मसभा में लाखों राम भक्तों के आने का दावा किया जा रहा है। 

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के दौरे से पहले पार्टी प्रवक्ता संजय राउत अयोध्या पहुंचे, जहां वह कार्यक्रम स्थल पर भूमि पूजन करेंगे। हिंदू संगठनों के नेताओं की बयानबाजी और मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी के बयान के बाद रामनगरी का माहौल गरम है। हालातों को देखते हुए जिला प्रशासन ने मंगलवार को ही राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद अधिगृहीत परिसर में 17 जनवरी तक धारा 144 लगा दी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अफसरों को स्पष्ट निर्देश दे चुके हैं कि 25 नवम्बर को अयोध्या के विवादित स्थल तक किसी को भी न जाने दिया जाये। लेकिन आरएसएस और विहिप का कहना है राम भक्त अयोध्या आएंगो तो रामलला के दर्शन करेंगे ही। उन्हें रोकना अनुचित होगा। फिलहाल अयोध्या मेले की संवेदनशीलता और देश में आतंकी गतिविधियों को देखते हुए अधिगृहीत विवादित स्थल के आसपास धारा-144 लागू कर दी गई है। 

इस क्षेत्र में एक समूह में 15 अधिक व्यक्तियों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। इसका समय और शर्तें भी तय कर दी गई हैं। अधिगृहीत परिसर में निर्धारित अवधि के अलावा प्रवेश, दर्शन मार्ग में रुकने-बैठक पर भी पाबंदी लगा दी गई है। लाठी-डंडे, अस्त्र-शस्त्र और कैमरे ले जाने पर रोक लगा दी गई है।

Tags :

NEXT STORY
Top