क्रेडिट एजेंसियों के लिए नियम अब और सख्त होंगे !

नई दिल्ली (4 जुलाई): पूंजी बाजार नियामक सेबी ने आज कहा है कि वह क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों की मौजूदा स्थिति से खुश नहीं है और जल्द ही उनके लिये नियमों का नया प्रारूप तैयार करने के लिये परिचर्चा पत्र जारी किया जायेगा। पूंजी बाजार नियामक ने क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों के लिये उनके खुलासा नियमों को और सख्त किया है, इसके कुछ ही दिन बाद सेबी प्रमुख ने यह नाराजगी जताई है। क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों द्वारा ऋण बोझ तले दबी कंपनियों के मामले में रेटिंग कारवाई में देरी को लेकर चिंता जताये जाने के बीच यह घटनाक्रम हुआ है।

 

त्यागी ने एक सवाल के जवाब में कहा, 'हम एक महीने के भीतर परिचर्चा पत्र लेकर आ रहे हैं।' उनसे पूछा गया था कि यदि रेटिंग एजेंसियां उसके नये सख्त नियमों का अनुपालन नहीं करतीं हैं तो सेबी ऐसी स्थिति से किस प्रकार निपटेगा। नियामक ने हालांकि यह भी कहा कि चीजों को अंतिम रूप देने से पहले सभी संबद्ध पक्षों के विचारों पर गौर किया जायेगा। क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों को सख्त संदेश देते हुये सेबी चेयरमैन ने कहा, 'क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों की जो मौजूदा स्थिति है उससे हम खुश नहीं हैं।'