चीन से लगी सीमा पर शुरु होगा संजीवनी बूटी खोजने का अभियान

नई दिल्ली (28 जुलाई): उत्तराखंड सरकार ने पौराणिक कथाओं में चर्चित कथित रूप से हिमालय की पहाड़ियों में मिलने संजीवनी बूटी की तलाश कराएगी। 

- सरकार ने इसके लिए आयुष विभाग  की एक कमेटी बनाई है। यह कमेटी चमोली जिले के द्रोणागिरी रेंज में इसकी खोज करेगी।

- उत्तराखंड सरकार इस पर 25 करोड़ रुपये खर्च करने जा रही है। 

- संजीवनी की खोज का दायरा चीन की सीमा से लगे हिमालय के द्रोणागिरी रेंज में होगा जिसके एक पहाड़ का जिक्र रामायण में उस पहाड़ के रूप में है जहां यह चमत्कारिक औषधि पाई जाती थी।

- इस प्रचीन बूटी में जीवन दायक गुण होते हैं, यह हिमालय के ऊंचे स्थानों पर पनपती है और अंधेरे में चमकती है। 

- संजीवनी खोजने वाले रिसर्च पैनल में आयुर्वेद के 4 जानकारों को शामिल किया गया है, जो अगस्त में काम शुरू करेंगे और इसके बाद रिपोर्ट सौंपेंगे।