पाकिस्तान बेनकाब, SCO देशों ने आतंकवाद पर किया कारवाई का ऐलान

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (14 जून) भारत लगातार आतंकवाद का मुद्दा अंतरराष्ट्रीय मंच पर उठाता रहा है। शंघाई कॉरपोरेशन ऑर्गनाइजेशन (SCO) के सभी सदस्य देशों की तरफ से घोषणापत्र जारी किया गया है, जिसमें आतंकवाद को भी मुद्दा बनाया गया है। भारत की तरफ से बार-बार उठाए जाने वाले सीमा पार आतंकवाद को भी इस घोषणा पत्र में जगह दी गई है। इससे पहले पीएम मोदी ने समिट में अपने बयान में आतंक को मदद पहुंचाने वाले देशों को जिम्मेदार ठहराने की बात कही है।

विदेश मंत्रलाय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि, 'सभी सदस्य देशों ने आम सहमति से आतंक के खिलाफ बयान दिया है। यह सभी सदस्य देशों की तरफ से जारी घोषणापत्र में शामिल है। यह सभी देशों की तरफ से आतंकवाद के खिलाफ कड़ा संकेत है।'

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में आतंकवाद का जिक्र करते हुए कहा था कि सभी देशों को एक साथ मिलकर आतंकबाद से लड़ने की जरुरत है। SCO-2019 ने 31 पेज का घोषणापत्र जारी किया है जिसमें सभी सदस्य देशों का मानना है कि क्रॉस बॉर्डर आतंकवाद सभी देशों के लिए चिंता का विषय है। आतंकवाद को बढ़ावा देना और आतंकियों को पनाह देना दुनिया के लिए खतरा है। इसके जरिए ड्रग ट्रैफिकिंग, ह्यूमन ट्रैफिकिंग, साइबर क्राइम में बढ़ोतरी हो रही है। साथ ही विकास, क्लाइमेट चेंज में सुधार की कोशिशों को झटका लग रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि एससीओ के सभी देशों को आतंकवाद के खिलाफ एक होना होगा। उन्होंने कहा कि आतंकवाद की फंडिंग पर रोक लगाने से लेकर हमें इसके खात्मे तक एक होकर काम करना होगा। पीएम मोदी ने 'टेररिज्म फ्री सोसाइटी' का नारा देते हुए कहा कि मैं हाल ही में श्रीलंका गया था तो वहां भी आतंकवाद का खतरनाक रूप में देखने को मिला। पीएम मोदी ने कहा कि आतंक के खिलाफ भारत अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का आह्वान करता है।