स्पोर्ट्स में दिलचस्पी रखते हैं, तो जरूर पढ़ें ये ख़बर

नई दिल्ली (22 अप्रैल): आज के जमाने में पढ़ने-लिखने के अलावा खेलने- कूदने पर भी नवाब बना जा सकता है। डॉक्टर-इंजीनियर के बजाय एक खिलाड़ी के तौर पर भी बुलंदी पर पहुंचा जा सकता है। इसका ही एक उदाहरण है- स्कूल स्पोर्ट्स प्रमोशन फाउंडेशन (SSPF)।

SSPF अबतक 1,000 से ज़्यादा स्कूलों और 20,000 से भी ज़्यादा बच्चों को क्रिकेट और फुटबॉल जैसे खेलों में इंटर-स्कूल टूर्नामेंट करा चुके हैं। जिसमें 1,500 से ज़्यादा मैच अकेले गए और अब ये टूर्नामेंट मई 2016 से इंटर-डिस्ट्रिक्ट लेवल की तरफ बढ़ रहा है। SSPF एक ऐसी संस्था है जो मूल स्तर पर जाकर खेलों को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है। इस काम में स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया इसकी सहयोगी हैं। 

SSPF का मानना है कि सही सुविधाओं और मार्गदर्शन के चलते भविष्य का खिलाड़ी स्कूल स्तर पर ही अपनी पहचान बना लेता है। जिस उम्र में बच्चे किसी भी सांचे में ढल सकते हैं उसी समय में उन्हें सही दिशा दी जाए, तो आगे चलकर वो देश के गौरव में चार चांद लगा सकते हैं।

साल 2015 के आखिर में शुरु हुई इस महत्वकांक्षी योजना ने महज़ 5 महीनों में ही काफी सफलता पाई है। इसके अंतर्गत पहले स्कूल स्तर पर मैच कराए जाते हैं। जिसमें से प्रतिभाओं को चुनकर उन्हें फील्ड ट्रायल और सेलेक्शन प्रक्रिया के लिए बुलाया जाता है और फिर बड़े स्तरों के लिए टीमों का चयन होता हैl इस योजना में आने वाले समय में कई खेलों को भी जोड़ा जाएगा। 2016-17 के जून तक रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इस योजना का फायदा खेल में दिलचस्पी रखने वाले बच्चे उठा सकते हैं।