Blog single photo

जस्टिस जोसेफ के नाम पर कोलेजियम में बनी आम सहमति

उत्तराखंड हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस के एम जोसफ को सुप्रीम कोर्ट जज बनाने की सिफारिश सरकार के पास दोबारा भेजी जाएगी। सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम की आज हुई बैठक में सभी जज इस बात पर एकमत रहे। इस मसले पर अंतिम फैसला 16 मई को लिया जाएगा।

नई दिल्ली (11 मई): उत्तराखंड हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस के एम जोसफ को सुप्रीम कोर्ट जज बनाने की सिफारिश सरकार के पास दोबारा भेजी जाएगी। सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम की आज हुई बैठक में सभी जज इस बात पर एकमत रहे। इस मसले पर अंतिम फैसला 16 मई को लिया जाएगा।

कॉलेजियम ने 10 जनवरी को जस्टिस जोसफ और वरिष्ठ वकील इंदु मल्होत्रा को सुप्रीम कोर्ट जज बनाने की सिफारिश एक साथ सरकार को भेजी थी। लेकिन सरकार ने 26 अप्रैल को सिर्फ इंदु मल्होत्रा के नाम को मंज़ूरी दी। जोसफ का नाम दोबारा विचार के लिए कॉलेजियम के पास भेज दिया।

सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार दोपहर एक बजे कलीजियम की बैठक हुई। बैठक करीब एक घंटे चली। बैठक में मुख्य अजेंडा था कि 10 जनवरी को उत्तराखंड हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस के एम जोसेफ का नाम सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस के तौर पर सरकार को भेजे जाने का जो फैसला लिया गया था उसे सरकार द्वारा दोबारा विचार के लिए भेजे जाने के मुद्दे पर विचार करना और अन्य हाई कोर्ट के जस्टिस का नाम सुप्रीम कोर्ट के जज के तौर पर प्रमोट करने के लिए नाम भेजे जाने की सिफारिश करना।

NEXT STORY
Top