SBI के ग्राहकों को इन सुविधाओं के लिए देने होंगे ज्यादा पैसे


नई दिल्ली (4 अप्रैल): अगर आपका खाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में हैं तो आपको इस खबर को जानना बहुत जरूरी है। क्योंकि SBI ने अपने ग्राहकों से कुछ सुविधाओं के बदले अधिक पैसा वसूलना शुरू कर दिया है। बैंक अब कस्टमर्स को चेक बुक और लॉकर के लिए भी अधिक पैसे वसूलेगा।


इसमें स्टेट बैंक के साथ हाल ही में विलय हुए छह बैंकों के ग्राहक भी शामिल हैं। SBI के विभिन्न सेवाओं के लिए शुल्क बढ़ाने के निर्णय के बाद अन्य बैंक भी ऐसा करने को प्रोत्साहित हो सकते हैं। इससे देश भर में ग्राहक प्रभावित होंगे।


बैंक ने बढ़ाए चार्जेस...

- SBI ने लॉकर किराया भी बढ़ा दिया है। साथ ही एक साल में लॉकर के उपयोग की संख्या भी कम कर दी है।

- 12 बार उपयोग करने के बाद ग्राहकों को 100 रुपए के साथ सर्विस टैक्स देना होगा।

- चेक बुक के मामले में चालू खाताधारकों को एक वित्त वर्ष में 50 चेक मुफ्त मिलेंगे।

- उसके बाद उन्हें चेक के प्रति पन्ने के लिए 3 रुपए देने होंगे।

- इस प्रकार, 25 पन्नों वाले चेक बुक के लिए उन्हें 75 रुपए के साथ सर्विस टैक्स भी देना होगा।


ये शुल्क पांच पूर्व असोसिएट बैंक और भारतीय महिला बैंक के ग्राहकों पर भी लागू होंगे। इन बैंकों का स्टैट बैंक में विलय 1 अप्रैल से प्रभाव में आ गया। विलय के बाद एसबीआई ग्राहकों की संख्या बढ़कर 37 करोड़ हो गई है।