फरवरी के अंत तक बैंकिग व्यवस्था पहले की तरह नॉर्मल हो जाएगी- अरुधंति भट्टाचार्य

नई दिल्ली (2 जनवरी): देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया यानी SBI ने रविवार को बेंचमार्क लेंडिंग रेट में 0.9 फीसदी तक की कटौती का ऐलान किया था। इस रेट कट के बाद बैंक का एक साल का मार्जिनल कॉस्ट लेंडिंग रेट (MCLR) 8.90 से घटकर 8 फीसदी के स्तर पर आ गया है। होम लोन की ब्‍याज दरें छह साल के सबसे निचले स्‍तर पर आ गई हैं। एसबीआई की ब्याज दर 10 साल में सबसे कम हो गई है।

SBI के चेयरमैन अरुधंति भट्टाचार्य  की माने तो फिलहाल बैंकों के पास प्रयाप्त पैसा है और जमा राशि का क्या होगा यह तो मार्च के बाद ही पता चलेगा, जब तक कि निकासी पर लगी रोक नहीं हट जाती। हालांकि उम्मीद जतायी है कि 40 फीसदी रकम बैंकों में ही जमा रहेगी।

अरुधंति भट्टाचार्य के मुताबिक मार्च तक ही पता चलेगा कि लोग अपना पैसा बैंक में रख रहे हैं या नहीं। इसीके आधार पर हम मार्च तक तय करेंगे की नई दर क्या होगी।

स्टेट बैंक प्रमुख अरुंधति भट्टाचार्य ने उम्मीद जताई है कि फरवरी के अंत तक बैंकिग व्यवस्था पहले की तरह नॉर्मल हो जाएगी। उन्होंने कहा कि नोट छपाई का काम युद्ध स्तर पर जारी है और जनवरी के अंतक 500 की नोट बड़े पैमाने पर बैंकों में आ जाएगी।