सावन का पहला सोमवार आज, ऐसे करें भोलेभंडारी की अराधना

Deoghar

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 जुलाई): सावन के पवित्र महीन की शुरुआत हो चुकी है। मान्यता के मुताबिक सावन को भोले भंडारी का महीना माना जाता है। आज सावन का पहला सोमवार है। देश दुनिया के तमाम मंदिरों में सुबह से ही भेले के भक्तों का तांता लगा हुआ है। हिंदू धर्म में इस महीने का खास महत्व है। साथ ही भेले भंडारी के भक्तों को इस महीने का खास इंतजार रहता है। मान्यता के मुताबिक इस महीने सच्चे मन में भोले भंडारी की पूजा अर्चना करने से मन मांगी मुराद पुरी होती है। वैसे भी इस साल के सावन पर कई संयोग बन रहे हैं। जिसे काफी शुभ माना जा रहा है। मन्याता के मुताबिक इस महीने श्रद्धालु सच्चे मन से शिवलिंग का पूजन कर शिव कृपा प्राप्त कर सकते हैं।  

आपको बता दें कि इस साल सावन महीने में खास संयोग बन रहा है। इस साल सावन के चारों सोमवार में विशेष योग का संयोग बन रहा है। इस साल सावन महीने में चार सोमवार पड़ रहा, जो बहुत ही अद्भुत संयोग है। सावन में दो सोमवार कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष में पंचमी तिथि को रहेगा। इनमें से दो सोमवार के साथ प्रदोष व्रत का भी संयोग बनेगा। जानकारों की मानें तो पहले और तीसरे सोमवार को पंचमी तो दूसरे और चौथे सोमवार को त्रियोदशी पड़ रही है। इस योग में विधि विधान से पूजन अक्षय पुण्य देने वाला होगा। इस दौरान भगवान शिव जलाभिषेक मात्र से प्रसन्न हो जाएंगे और शैव उपाषकों पर विशेष कृपा बरसेगी।

shiv ji

पूजा करते समय इन बातों का ध्यान रखें…- शिवलिंग पर सबसे पहले गंगाजल चढ़ाएं। यदि गंगाजल उपलब्ध न हो तो ताजा जल तांबे के लोटे में भरकर शिवलिंग पर अर्पित करें–  इसके बाद दूध, दही, शहद,चावल शिवलिंग पर अर्पित करें– फिर बेल के पत्ते, ताजे फलों और फूलों से शिवलिंग का श्रृंगार करें या शिवजी पर अर्पित करें– शिवलिंग पर चंदन, रोली और अक्षत से टीका लगाएं और प्रसाद चढ़ाएं। प्रसाद में मिश्री, मीठे बताशे या मीठा इलायचीदाना रख सकते हैं– शिवलिंग के सामने दीया-धूप करें और शिवजी की आरती कर प्रसाद सभी में बांट दें और खुद भी खाएं। दिन भर मन को साफ रखें, किसी के लिए गलत विचार मन में न लाएं और शिवजी से सुखमय जीवन के लिए प्रार्थना करें।