सऊदी अरब से लौटी महिला ने बताई सेक्स दासियों की कहानी

नई दिल्ली ( 17 फरवरी ): हैदराबाद की एक युवती सउदी अरब में दम्माम के एक ब्यूटी पार्लर में काम करती है। पिछले साल वह अपने एम्प्लॉयर से तंग आकर अपनी कलाई काटकर खुदकुशी करने की कोशिश की थी। उसका एम्प्लॉयर उससे होम सर्विस लेने के लिए लगातार उसे परेशान कर रहा था, उसी से तंग आकर उसने यह कदम उठाया था।

मालिक के चंगुल से बचकर भाग निकलने वाली अहमदाबाद की एक महिला नूरजहां अकबर हसन ने बताया कि वहां 'होम सर्विस' का क्या अर्थ होता है। नूरजहां ने बताया, 'होम सर्विस का अर्थ होता है देह व्यापार, किसी लड़की को होम सर्विस पर भेजे जाने का अर्थ उस व्यक्ति की सेक्स दासी है, जिसके घर उसे भेजा गया।' नूरजहां उन दो हैदराबादी लड़कियों के साथ दम्माम में थी, जिनमें से एक ने अपनी कलाई काटकर खुदकुशी की कोशिश की थी।

38 वर्षीय नूरजहां ने बताया कि कैसे मालिक की मांग पूरी न करने पर उन्हें प्रताड़ित किया जाता था। उन्होंने कहा, 'मुझे पीटा जाता था, बाल खींच-खींचकर मेरे सिर को दीवार पर मारा जाता था। मैं होम सर्विस के लिए तैयार नहीं होती थी, लेकिन कई लड़कियां तैयार हो जाती थीं। मैंने देखा कि की हैदराबादी लड़कियां उनके जाल में फंस जाती थीं।'

नूरजहां ने यह भी बताया कि उनके ब्यूटी पार्लर में कई बार लड़कियां होम सर्विस से बचने के लिए पहली और दूसरी मंजिल से छलांग तक लगा दिया करती थीं। उन्होंने बताया कि उनके पति को काम दिलाने के नाम पर एक घर में काम करना पड़ा, जबकि उन्हें करीब दो महीनों तक जेल में रहना पड़ा।

वहां से भारत लौटीं लड़कियां इस मामले में चुप रहना पसंद करती हैं। वे नूरजहां से भी उनके नाम सार्वजनिक न करने के लिए कहती हैं। लेकिन बीते साल अक्टूबर में भारत लौटीं नूरजहां ने इस बारे में आवाज उठाना ठीक समझा।