बढ़ सकते हैं तेल के दाम!

नई दिल्ली ( 22 जून ): सऊदी अरब के शाह सलमान बिन अब्दुल अजीज ने बुधवार को अपने भतीजे मोहम्मद बिन नायफ को बर्खास्त कर अपने बेटे मोहम्मद बिन सलमान को प्रिंस बना दिया, जिससे स्पष्ट हो गया है कि अब्दुलअजीज के बाद सऊदी अरब के अगले शाह सलमान होंगे। मोहम्मद बिन सलमान को क्राउन प्रिंस बनाए जाने का असर आने वाले समय तेल बाजार भी देखने को मिल सकता है।

 

कच्चे तेल का उत्पादन करने वाले बड़े देश पिछले कई सालों से कीमतों में इजाफे के लिए संघर्ष कर रहे हैं, ऐसे में मोहम्मद बिन सलमान की भूमिका अहम होगी। बीते 2 से ढाई साल के दौरान मोहम्मद बिन सलमान अपने पिता के शासक रहते हुए सऊदी अरब के एनर्जी मॉडल को बदलने का काम करते रहे हैं।

सऊदी अरब की इकॉनमी कच्चे तेल की कीमतों में लगातार कमजोरी के संकट से जूझ रही है। क्राउन प्रिंस बने सलमान डेप्युटी क्राउन प्रिंस रहते हुए बीते करीब दो सालों से ओपेक देशों के साथ मिलकर क्रूड प्रॉडक्शन में कटौती कर कीमतों को बढ़ाने के प्रयासों में जुटे थे। सऊदी अरब की सरकारी तेल कंपनी अरामको के आईपीओ बेचने के लिए वॉल स्ट्रीट बैंकर्स को आमंत्रित किया। इसके जरिए सऊदी अरब सरकार को सैकड़ों अरब डॉलर की राशि मिलने की उम्मीद है।