'हौथी लड़ाकों के साथ वार्ता नाकाम रही तो सना पर धावा बोलेंगी सऊदी सेनाएं'

नई दिल्ली (13 मई): सऊदी नेतृत्व वाले सैन्य संगठन के प्रवक्ता  ब्रिगेडियर जनरल अहमद असीरी ने कहा है कि अगर हौथी लड़ाकों और सऊदी समर्थक सरकार के बीच सना में चल रही वार्ता विफल रहती है तो संयुक्त सैनाएं यमन में होथी लड़ाको के खिलाफ कार्रवाई शुरु कर देंगी। असीरी ने कहा कि वो आर्मी ऑपरेशन और पॉलिटिक नेगोसिएशन दोनों ही लाइनों पर काम कर रहे हैं।

दोनों में से एक तो सफल होकर रहेगी। यमन की सुरक्षा का मतलब यह नहीं है कि हम हौथी लड़ाको के नियंत्रण में बैलेस्टिक मिसाइल और तोपखाने को जस का तस रहने दें। होथी लड़ाकों को इन सबको भी  छोडना होगा या फिर मरने को तैयार रहना होगा। हालांकि कुछ दिन पहले सऊदी विदेश मंत्री अदिल अल जुबैर ने कहा था कि यमन समस्या का हल वार्ता के माध्यम से निकाला जाना चाहिए।

इसी क्रम में पिछली 9 मई से कुवैत में संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत इस्माइल ऊल्द शेख अहमद की मध्यस्थता में हौथी लड़ाकों और यमन सरकार के बीच वार्ता चल रही है। हालांकि वार्ता के तीन दिन बाद इस्माइल ऊल्द ने कहा है कि सभी पक्ष अभी जिस मुकाम पर खड़े हैं वहां से सिर्फ दो ही रास्ते निकलते हैं। अगर सकारात्मक रहे तो शांति कायम होगी और अगर नकारात्मक रहे तो भयंकर जंग होगी।