ईरान वाले मुसलमान नहीं: सऊदी मौलाना

दुबई (7 सितंबर): एक बार फिर सऊदी अरब और ईरान में जुबानी जंग तेज हो गई है। हज यात्रा शुरू होने से ठीक पहले सऊदी अरब की सबसे बड़ी धार्मिक संस्था ने ईरान के नेताओं पर मुसलमान न होने का आरोप लगाया है।

ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता अयातोल्लाह अली खमेनाई ने एक बयान में सऊदी अरब की आलोचना की है। अरब और ईरान के बीच तनातनी कोई नई बात नहीं है, लेकिन सालाना हज यात्रा शुरू होने से ठीक पहले फिर दोनों ने एक दूसरे पर निशाना साधा है। एक तरफ ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता ने कहा है कि सऊदी शाही परिवार को इस्लाम के सबसे पवित्र स्थलों की व्यवस्था संभालने का कोई हक नहीं है।

वहीं, सऊदी अरब की सबसे बड़ी धार्मिक संस्था ने ईरान के नेताओं पर मुसलमान न होने का आरोप लगाया है। ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता अयातोल्लाह अली खमेनाई ने एक बयान में सऊदी अरब की आलोचना की है। उन्होंने कहा है कि सऊदी अरब इन स्थलों की कैसी व्यवस्था संभाल रहा है जबकि पिछले साल सैकड़ों लोगों की पवित्र यात्रा के दौरान कुचल कर मौत हो गई थी।

इसके जवाब में सऊदी अरब के ग्रांड मुफ्ती शेख अब्दुल अज़ीज़ ने कहा है कि उन्हें ईरानी नेता के बयानों पर कोई हैरानी नहीं हुई। उन्होंने कहा, "हमें समझना होगा कि वो लोग मुसलान नहीं हैं। उनके मुख्य दुश्मन सुन्नाह के मानने वाले (सुन्नी) हैं।" सऊदी अरब का कहना है कि 2015 में हज यात्रा के दौरान 769 लोग मारे गए थे। ये हज यात्रा के दौरान 25 सालों में मारे गए लोगों की सबसे ज्यादा संख्या है।