सऊदी अरब में सेलरी मांगने वाले मजदूरों को 45 दिन की कैद और 300 कोड़े

नई दिल्ली (5 जनवरी): तेल की क़ीमतों में गिरावट तथा यमन और सीरिया संकट में बुरी तरह उलझ जाने के कारण सऊदी अरब की अर्थ व्यवस्था चरमराने लगी है और देश में इसका असर स्पष्ट रूप से दिखाई देने लगा है। यही वजह है कि महीनों से तनख्वाह न मिलने की वज़ह से आंदोलन कर रहे मजदूरों को सऊदी अरब सरकार ने जेल में डालने और कोड़े मारने की सज़ा दी है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरब की कंस्ट्रक्शन कंपनी बिन लादेन ग्रुप में कार्यरत मज़दूरों को  कई महीनों से तनख़्वाहें नहीं मिली हैं। यो मजदूर कंपनी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। सऊदी अरब के अलवतन समाचार पत्र ने लिखा है कि सज़ा पाने मज़दूरों की सही संख्या नहीं पता है लेकिन उन्हें संपत्ति को नुक़सान पहुंचाने और अंशाति को हवा देने के आरोप में चार महीने की जेल तथा 300 कोड़ों की सज़ा सुनाई गई है और कुछ मज़दूरों को 45 दिन की जेल की सज़ा दी गई है।