सऊदी अरब की अमेरिका को धमकी : अगर 9/11 हमले में दोषी ठहराया तो उठाएंगे ये बड़ा कदम...

नई दिल्ली (16 अप्रैल) : अमेरिकी संसद में एक बिल को लेकर सऊदी अरब ने अपना रुख बहुत कड़ा कर लिया है। सऊदी अरब ने ओबामा प्रशासन और अमेरिकी सांसदों को साफ़ कर दिया है कि अगर कांग्रेस ने वो बिल पास कर दिया जिसमें अदालतों को 9/11  हमले के लिए सऊदी अरब को दोषी ठहराने की अनुमति मिल जाएगी तो वो अपने सारे अमेरिकी असेट्स बेच देगा। सऊदी अरब की इस धमकी का अमेरिका पर गहरा असर देखने को मिल रहा है। ओबामा प्रशासन ने बिल को रोकने के लिए संसद में लॉबिंग शुरू कर दी है। बता दें कि ओबामा शीघ्र ही सऊदी अरब का दौरा करने वाले हैं।

सऊदी अरब के विदेश मंत्री अदेल अल जुबेर ने जब पिछले माह अमेरिका की यात्रा की थी तो यह संदेश वहां पहुंचा दिया था। सऊदी अरब ने अमेरिका में 750 अरब डॉलर की ट्रेजरी सिक्युरिटी और दूसरे एसेट्स खरीद रखे हैं। न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरब का कहना है कि अमेरिकी कांग्रेस 9/11 बिल को पास कराना चाहती है। सऊदी अरब को डर है कि बिल पारित होने के बाद उसके द्वारा अमेरिका में खरीदी गई संपत्ति अमेरिकी कोर्ट द्वारा जब्त की जा सकती है।

बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कांग्रेस से यह अपील भी की है कि इस बिल को पास न किया जाए। लेकिन इसके लिए उन्हें भी एक लॉबी के गुस्से का सामना करना पड़ा है। यह बिल देश के कुछ लॉ मेकर्स लेकर आए थे, जिसका समर्थन वे लोग कर रहे हैं जिनके परिजनों ने सितंबर 2011 के आतंकी हमले में जान गंवाई थी। इन लोगों में ओबामा प्रशासन के रुख को लेकर नाराज़गी है।

सऊदी अरब हमेशा यह कहता रहा है कि सितंबर 2011 के हमले में उसका कोई हाथ नहीं है।