सऊदी अरब में बेटे की मौत, परिवार ने साथी पर लगाया हत्या का आरोप

संदीप (16 अगस्त): हिमाचल प्रदेश के ऊना में एक परिवार अपने मृतक बेटे को इंसाफ दिलाने के लिए दर-दर भटक रहा है। ऊना का सुखविंदर एक साल पहले रोज़ी-रोटी के खातिर सऊदी अरब गया था, जहां वो K.G.L कंपनी में बतौर सिक्योरिटी गार्ड काम करता था।

करीब दस महीने बाद अचानक 16 जुलाई को उसकी मौत की खबर परिवार को मिलती है। कंपनी के मुताबिक उसने 14 जुलाई को आत्महत्या की है, जबकि परिवार का आरोप है कि उसके साथ काम करने वाले कुछ भारतीयों ने ही इसकी हत्या की है। परिवार का आरोप है कि उसके साथ काम करने वाले कुछ भारतीय सिक्योरिटी गार्डस के साथ सुखविंदर का झगड़ा हुआ था, जिसमें उसके हाथों दूसरे एक गार्ड के सिर पर चोट आई थी। इस झगडे के बाद कंपनी ने उसको टर्मिनेट कर दिया था और उसको कागज़ी कार्यवाही के बाद वापिस भारत भेज जाना था।

इस दौरान 20 दिन वो अपने कमरे पर ही रहा, लेकिन उसकी जगह उसकी लाश वतन आई। इंसाफ के लिए पीड़ित परिवार प्रशासन और नेताओं के चक्कर काट रहा है। यहां तक कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ई-मेल के ज़रिए गुहार लगाई गई है। हालांकि अभी तक इस परिवार को कार्यवाही का कोई ठोस उत्तर नहीं मिला है। सुखविंदर की बहन अपने भाई के कथित हत्यारों को सजा दिलवाना ही रक्षा बंधन का तोहफा समझती है।