पाकिस्तान के आतंकी समर्थकों की नकेल कसेंगे सऊदी अरब और अमेरिका

नई दिल्ली (1 अप्रैल): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सऊदी अरब की यात्रा से चंद घंटे पहले ही रियाद ने पाकिस्तानी आतंकवादियों और लश्कर-ए-तैयबा जैसे संगठनों पर कार्रवाई के लिए अमेरिका से हाथ मिला लिया है।

अमेरिकी सरकार के प्रवक्ता एडम ज़ुबिन ने कहा कि रियाद और वाशिंगटन अलकायदा, तालिबान और लश्कर-ए-तैयबा के नेटवर्क को सपोर्ट करने वाले, उन्हें चंदा देने वाले और उन्हें किसी भी अन्य तरीके से मदद करने वालों के खिलाफ एक साथ कदम उठाएंगे। ऐसे लोगों के एकाउंट्स और प्रॉपर्टीज़ सीज़ कर ली जायेंगी। गिरफ्तारी के बाद उनके आतंरवादी निरोधक कानूनों के तहत कार्रवाई की जायेगी।

एडम ज़ुबिन ने लश्कर-ए-तैयबा के प्रभावशाली नेता नावीद क़मर का ज़िक्र भी किया है। नावीद पाकिस्तान का एक बड़ा व्यावसायी है। कई व्यावसायिक समूहों  में उसकी हिस्सेदारी है तथा स्टुडेंट विंग के अलावा वो अल दावा नाम की एक मैग्जीन भी प्रकाशित करता है। अमेरिका और सऊदी अरब ने तय किया है कि अब ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।