सऊदी अरब में 10 साल बाद मंदी का महौल

नई दिल्ली(22 फरवरी): सऊदी अरब में जनवरी महीने में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक में गिरावट देखने को मिली है।

- मंगलवार को जारी किए आंकड़ों के मुताबिक बीते एक दशक में यह पहला ऐसा मौका है, जब सऊदी अरब में कीमतों में गिरावट आई है।

- सरकार की ओर से रेवेन्यू बढ़ाने के लिए उठाए गए कदमों के चलते यह स्थिति देखने को मिल रही है।

- पिछले साल जनवरी के मुकाबले कीमतों में 0.4 पर्सेंट की कमजोरी आई है। सेंट्रल डिपार्टमेंट ऑफ स्टैटिस्टिक्स के मुताबिक सऊदी इकॉनमी में कमजोरी के चलते यह स्थिति पैदा हुई है।

- कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट की वजह से सऊदी अरब सरकार के रेवेन्यू कलेक्शन में कमी आई है और इसके चलते उसे अपने खर्चों में कटौती करनी पड़ी है।