तेल का खरीददार बना रहे चीन, इसलिए सऊदी अरब ने चली ये बड़ी चाल

नई दिल्ली (3 जुलाई): सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री खालिद अल फालेह ने चीनी उप-प्रधानमंत्री से बातचीत के बाद कहा है कि सऊदी अरब चीन की एनर्जी इंडस्ट्री में निवेश चाहता है। यह दुनिया का सबसे बड़ा तेल निर्यातक होने के नाते अपने एक बड़े ग्राहक के साथ सहयोग संबंध को बढ़ावा देने की कोशिश का हिस्सा भर है। फालेह ने यह बयान ईमेल के जरिए जारी किया है।

खालिद अल फालेह सऊदी अरब एनर्जी सेक्टर में पार्टनरशिप को उच्चतम स्तर तक ले जाने को लेकर काफी उत्साहित है। सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री ने उम्मीद जताई कि चीन के हरेक प्रांत में सऊदी अरब का निवेश होगा। दुनिया की सबसे बड़ी तेल कंपनी सऊदी अरामको और पेट्रोकेमिकल्स कंपनी सऊदी बेसिक इंडस्ट्रीज कॉर्प (सेबिक), दोनों के चीन में जॉइंट वेंचर बिजनस हैं और वहां इनके कई नये प्रॉजेक्ट्स पर भी काम हो रहे हैं।