जेल की रोटी और जेल का पानी ही पीना पड़ेगा शशिकला को

नई दिल्ली (16 फरवरी): एआईएडीएमके की महासचिव शशिकला को जेल की रोटी ही खानी पड़ेगी। उन्हें जेल के भीतर कोई खास सुविधा नहीं मिलेगी। अन्नाद्रमुक महासचिव वीके शशिकला को अदालत में आत्मसमर्पण करने के बाद बेंगलुरु की सेंट्रल जेल में रखा गया है। सूत्रों के मुताबिक, शशिकला ने सेल में एक टेबल, पंखा और प्रत्येक सप्ताह कुछ नॉन-वेज भोजन की व्यवस्था कराने की जेल प्रशासन से मांग की है। 

उन्होंने ध्यान के लिए खास जगह और चौबीस घंटे चिकित्सा सेवाएं मुहैया कराने की भी मांग की है। लेकिन जेल प्रशासन ने उनकी मांगों को ठुकरा दिया है। मीडिया में आई उन खबरों को जेल प्रशासन ने खारिज कर दिया जिसमें कहा गया था कि शशिकला ने घर का बना खाना, मिनरल वाटर और एक स्पेशल टॉयलेट की मांग जेल प्रशासन से की है। अधिकारी ने इस प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "यह कैसे संभव है? शशिकला ने हमसे अभी तक इसके लिए संपर्क नहीं किया है।