सरबजीत हत्या केस में डीएसपी को गिरफ्तार करने का आदेश, जांच में सुस्ती पर पाक कोर्ट ने लगाई लताड़

नई दिल्ली ( 15 फरवरी ): सरबजीत मर्डर केस की जांच में सुस्ती को लेकर पाकिस्तान की एक सेशन कोर्ट ने पुलिस को फटकार लगाई है। जज ने पुलिस को कोर्ट की मदद नहीं करने पर आगाह किया है। साथ ही एक कोर्ट ने कोट लखपत जेल के डीएसपी को गिरफ्तार करने का आदेश दिया है।

लाहौर के एडिशनल डिस्ट्रिक और सेशन जज ने बुधवार को लाहौर पुलिस चीफ को आदेश दिया कि वे 17 फरवरी को कोट लखपत जेल के डीएसपी को पेश करें। जज ने कहा कि इस केस में 'जरा सी' प्रोग्रेस हुई है। बता दें कि सरबजीत का लाहौर की कोट लखपत जेल में चार साल पहले मर्डर हो गया था।

बार-बार समन जारी करने के बाद भी जेल डीएसपी कोर्ट में हाजिर नहीं हुए हैं। ऐसे में, कोर्ट ने उनके खिलाफ बेलेबल अरेस्ट वारंट जारी किया है। मई 2013 में सरबजीत पर कोट लखपत जेल में ईंट, रॉड और ब्लेड से हमला किया गया था। आमिर तांबा और मुदस्सर नाम के दो कैदियों पर उन पर हमला करने का आरोप है। सरबजीत की हत्या की शुरुआती जांच के लिए लाहौर हाईकोर्ट के जस्टिस मजहर अली अकबर नकवी की अगुवाई में ज्यूडिशियल कमीशन बनाया गया था।

बाद में इस मामले को ट्रायल कोर्ट से सेशन कोर्ट भेज दिया गया था। नकवी ने इस मामले में 40 गवाहों के बयान दर्ज किए थे। उन्होंने अपनी जांच रिपोर्ट सरकार को सौंप दी थी, जो आज तक उजागर नहीं की गई है।