लो इसी महीने 'जीवित' हो जाएगी सरस्वती नदी

चंडीगढ़ (23 जुलाई) :  हरियाणा सरकार लुप्त हो चुकी सरस्वती नदी को 'जीवित करने'के लिए इस महीने के अंत में अहम कदम उठाने जा रही है। हरियाणा सरकार 30 जुलाई को नदी के बहाव वाले मार्ग में पानी छोड़ने के लिए तैयार है। ऊंचा चंदना गांव नदी के मार्ग पर छोड़ा जाएगा।   सरस्वती हेरिटेज डेवलपमेंट बोर्ड (एसएचडीबी) के प्रस्ताव ने ये जानकारी दी है। नदी के मार्ग में यमुनानगर, कुरूक्षेत्र और कैथल जिले आते हैं।   बोर्ड का मानना है कि मानसून के कारण नदी में जल का बहाव रहेगा। लंबे समय के बहाव के लिए आदि बद्री गांव में बांध बनाने की योजना है। माना जाता है कि सरस्वती का उद्गम यहीं से हुआ था। यहां पर धार्मिक स्थल के अलावा वाटर पार्क, बोटैनिकल गार्डन और चिडि़याघर बनाने का प्रस्ताव है।