इतिहास रचने से सिर्फ एक कदम दूर सानिया मिर्जा

नई दिल्ली (27 जनवरी): भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा एक बार फिर इतिहास रचने के करीब पहुंच गई है। उन्होंने आस्ट्रेलिया ओपन मिश्रित युगल के सेमीफाइनल मुकाबले में इवान डोडिग के साथ मिलकर समंथा स्टोसुर और सैम ग्रोथ की स्थानीय जोड़ी को हराकर फाइनल में जगह बना ली है। इसी के साथ सानिया ने सातवें ग्रैंडस्लैम खिताब की ओर मजबूत कदम बढ़ा दिए हैं।

भारत और क्रोएशिया की दूसरी वरीय जोड़ी ने एक घंटे और 18 मिनट चले सेमीफाइनल में 6-4 2-6 10-5 से जीत दर्ज की। सानिया ने तीन मिश्रित युगल ग्रैंडस्लैम जीते हैं। उन्होंने पिछली बार ब्राजील के ब्रूनो सोरेस के साथ मिलकर अमेरिकी ओपन का 2014 में मिश्रित युगल खिताब जीता था।

पिछले साल सानिया के पास डोडिग के साथ मिश्रित युगल ग्रैंडस्लैम जीतने का मौका था, लेकिन इस जोड़ी को फ्रेंच ओपन के फाइनल में हमवतन भारतीय लिएंडर पेस और मार्टिना हिंगिस की जोड़ी के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा था।

साल के पहले ग्रैंडस्लैम में सानिया एकमात्र भारतीय बची हैं। इससे पहले रोहन बोपन्ना, लिएंडर पेस, पूरव राजा, दिविज शरण और जूनियर में जील देसाई और सिद्धांत बंठिया टूर्नामेंट से बाहर हो चुके हैं।