बंद होगा 2000 का नोट!, जेटली ने बताई ये वजह

नई दिल्ली ( 26 जुलाई ): बुधवार को राज्यसभा में समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल ने उठाया कि क्या 2000 रुपये के नोटों की छपाई बंद हो गई है? उन्होंने उपसभापति पी. जे. कुरियन से कहा कि जब परंपरा रही है कि संसद सत्र के दौरान सरकार अगर नीतिगत फैसले लेती है तो सदन को बताया जाता है। ऐसे में इस बात की भी जानकारी देनी चाहिए कि क्या सरकार ने रिजर्व बैंक को 2000 रुपये के नोटों की छपाई बंद करने को कहा है। 

सांसद नरेश अग्रवाल ने कहा, 'रिजर्व बैंक ने 2000 रुपये के 3.2 लाख करोड़ रुपये छापे। लेकिन अब सरकार ने इनकी छपाई करने से मना कर दिया। नोटबंदी का जो आदेश पहले हुआ, वह रिजर्व बैंक ने नहीं लिया, सरकार ने लिया। रिजर्व बैंक के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स ने मना किया था, तब भी सरकार ने नोटबंदी का फैसला लिया।' इस पर उपसभापति ने कहा कि यह रिजर्व बैंक का विशेषाधिकार है। दरअसल, उनका कहना था कि नोटबंदी का फैसला सरकार नहीं, रिजर्व बैंक ही ले सकता है। 

नरेश अग्रवाल के सवाल के बाद वित्तमंन्त्री जेटली ने जवाब तो नहीं दिया, लेकिन चुटकी लेते हुए कहा कि ये प्वाइंट ऑफ आर्डर का मामला नहीं बल्कि प्वाइंट ऑफ होर्डर का मामला है। सूत्रों के हवाले से खबर चला सकते है कि 2000 रुपये के नोटों की भारी जमाखोरी हो रही है।