1 हजार रुपए पेंशन देंगे अखिलेश, घोषणापत्र में किया ऐलान

लखनऊ(22 जनवरी):  अखिलेश यादव ने रविवार को सपा का घोषणापत्र जारी किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज यहां घोषणापत्र 2017 के चुनाव के लिए हम आपके बीच रख रहे हैं। आज का दिन वरिष्ठ नेता जनेश्वर मिश्र को याद करने का दिन है। 2012 में बनाए घोषणापत्र को आगे बढ़ाने का काम कर रहे हैं। 

सपा के घोषणापत्र की बड़ी बातें...

-सीधे अकाउंट में दी जाएगी समाजवादी योजना: अखिलेश-लखनऊ एयरपोर्ट पर होंगी एयर एंबुलेंस: अखिलेश-महिलाओं को रोडवेज बसों में आधा किराया: अखिलेश-पशुओं के लिए 108 नंबर सेवा होगी: अखिलेश

-लोहिया आवास स्कीम और बढाएंगे: अखिलेश

- समाजवादी किसान योजना कोष बनाएंगे: अखिलेश

-गरीब महिलाओं को प्रेशर कुकर दिया जाएगा: अखिलेश

-गरीबों को मुफ्त गेंहू-चावल: अखिलेश

-पुर्वाचंल में स्टार्ट अप योजना: अखिलेश

-जिला मुख्यालय फोर लेन से जुड़ेंगे: अखिलेश

- छात्रों को स्मार्ट फोन दिया जाएगा: अखिलेश

-1 करोड़ लोगों को 1000 मासिक पेंशन: अखिलेश

-मजदूरों को रियाती दरों पर मिड डे मिल: अखिलेश

-सीनियर सिटीजन के लिए ओल्ड ऐज होम: अखिलेश

-शहर की तरह गांव में भी 24 घंटें बिजली लाएंगे: अखिलेश

- बता दें कि इस प्रोग्राम में मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव नहीं पहुंचे हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि आजम खान मनाने के लिए मुलायम के घर गए। लेकिन वे नहीं आए। बाद में अखिलेश को उनकी गैर-मौजूदगी में मैनिफेस्टो जारी करना पड़ा।

अखिलेश के स्पीच की बड़ी बातें...

- अखिलेश ने कहा- "यहां जितने साथी दिखाई दे रहे हैं, एक बात तो साफ हैं कि हम सब आने वाले समय में समाजवादी सरकार बनाना चाहते हैं। मैंने कहा था कि 5 महीने की मेहनत कर लो तो 5 साल की सरकार मिलेगी।"

- "पहले चरण के नॉमिनेशन का कल आखिरी दिन है। जो बात घोषणापत्र में नहीं थी, उसको भी सपा ने पूरा करने का काम किया है। हमारी कथनी-करनी में कोई अंतर नहीं है। अभी बहुत काम करना है।"

-अखिलेश ने बताया कि "सपा सरकार ने संतुलित विकास करने का काम किया है। मेट्रो बनाई, एक्सप्रेस वे बनाया। टीवी पर दिखाया जा रहा है कि हम समीकरण बना रहे हैं। ये बताया जा रहा है कि वो आपके शुभचिंतक हैं।"

- "उन्होंने अच्छे दिन का नारा दिया। सबका साथ-सबका विकास की बात कही। 3 साल हो गए। जनता विकास ढूंढ रही है। विकास के बहाने कभी झाड़ू पकड़ा दी, कभी योग करा दिया।"

- अखिलेश ने दावा किया- "यूपी का कोई जिला नहीं बचा, जहां बड़ा काम नहीं हुआ। कभी बिजली नहीं आती थी। आज गांवों में 16-18 घंटे बिजली है। 108 एंबुलेंस एक फोन पर आती है।"

- "उनके पास न तो कोई सवाल है और न जवाब। कोई बात नहीं निकली तो कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए।"