अफीम तस्करों से घूस में डायमंड लेता था सलविंदर

नई दिल्ली (17 जनवरी): पठानकोट हमले के बाद शक के घेरे में आए पुलिस अफसर सलविंदर से एनआईए के सामने कबूल किया है कि ड्रग्स की हर खेप की एवज में उन्हें हीरे की ज्वैलरी मिलती थी। उसका ज्वैलर फ्रैंड राजेश इन डायमंड का टेस्ट कर बताता था कि ये नकली हैं या असली।

सूत्रों के अनुसार, ऐसा समझा जा रहा है कि आतंकियों ने सलविंदर को 'ट्रैप' में फंसा लिया था। वो पहले से सलविंदर की कमजोरी जानते थे। उन्होंने सलविंदर को ट्रैप करने के बाद एयरपोर्ट के भीतर पहुंचने तक उसका  उपयोग किया। हालांकि अधिकारिक तौर पर अभी तक ऐसा कोई बयान नहीं दिया है। यह भी जानकारी मिली है कि एनआईए ने जिस चाइनीज़ फोन को बरामद किया था उसका डाटा डिलीट कर दिया गया था। इस फो को नेशनल टेक्निकल रिसर्च ऑर्गनाइज़ेशन को भेज दिया गया है, ताकि डिलीट किया गया डाटा रिकवर किया जा सके।