काला हिरण शिकार मामल: सलमान समेत 5 आरोपियों को 25 जनवरी को कोर्ट में होना होगा पेश

जोधपुर (13 जनवरी): राजस्थान में 1998 के काले हिरण शिकार मामले में बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं। जोधपुर कोर्ट ने सलमान खान के साथ-साथ सैफ अली खान, तब्बू, नीलम और सोनाली बेंद्रे को 25 जनवरी को अदालत में पेश होने को कहा है। सलमान के खिलाफ चल रहे आर्म्स एक्ट में भी 18 जनवरी को फैसला आ सकता है।

सलमान खान पर आरोप है कि उन्होंने बिना लाइसेंसी बंदूक से काले हिरण का शिकार किया। इसी मामले में उनके खिलाफ केस दर्ज हुआ था। पूरा मामला 1998 का राजस्थान के कांकनी गांव का है। इसमें सलमान खान के साथ-साथ सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे, तब्बू और नीलम को सह-आरोपी हैं। ये पूरा घटनाक्रम उस समय हुआ जब ये एक अक्टूबर को फिल्म 'हम साथ-साथ हैं' की शूटिंग के लिए पहुंचे थे।

बता दें कि जोधपुर के सुदूरवर्ती इलाके भावड में 26 सितंबर, 1998 को और इसी इलाके के घोड़ा फार्म्स में 28 सितंबर, 1998 को काले हिरण का अवैध शिकार किया गया था। सलमान उस समय जोधपुर में फिल्म 'हम साथ साथ हैं' की शूटिंग कर रहे थे। घोड़ा फार्म हाउस मामले में पांच साल की सजा सुनाई जा चुकी है शिकार के तीन मामलों में से एक में उन्हें एक साल और घोड़ा फार्म हाउस मामले में पांच साल की सजा सुनाई जा चुकी है, हालांकि, राजस्थान हाई कोर्ट ने फिलहाल सजा पर रोक लगा रखी है।

क्या है पूरा मामला...

- 1998 में हम साथ-साथ हैं फिल्म की शूटिंग के दौरान सलमान खान पर 3 अलग-अलग जगहों पर हिरणों का शिकार करने का आरोप लगा

- जोधपुर के पास भवाद गांव में 2 काले हिरणों, घोड़ा फार्म में 1 काले हिरण का और कांकाणी गांव में 2 काले हिरणों का शिकार किया गया था

- भवाद और घोड़ा फॉर्म में हुए शिकार के मामले में लोअर कोर्ट ने सलमान को 1 साल और 5 साल की सजा सुनाई थी

- बाद में हाईकोर्ट ने दोनों मामलों में सलमान को बरी कर दिया। अब इस फैसले को राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है

- जबकि कांकाणी गांव में दो काले हिरणों के शिकार मामले में इन कलाकारों को अब मुलजिम बयान पढ़कर सुनाए जाएंगे

- जांच में पाया गया था कि सलमान खान को पिस्टल और राइफल के लिए जारी लाइसेंस की तारीख खत्म हो चुकी थी

- ऐसे में सलमान के खिलाफ अवैध तरीके से हथियार रखने और उनसे शिकार करने का एक अलग से मामला जल रहा है