साक्षी महाराज को चुनाव आयोग की फटकार, चुनाव के दौरान होगी निगरानी

नई दिल्ली (12 जनवरी): अपने बयानों से विवादों में रहने वाले बीजेपी नेता और सांसद साक्षी महाराज की मुश्किलें बढ़ सकती है। चुनाव आयोग ने भाजपा सांसद साक्षी महाराज को आपत्तिजनक बयान को लेकर चेतावनी दी है। आयोग ने आचार संहिता का उल्लंघन करने पर उन्हें फटकार लगाई और कहा है कि ये सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों की भी अनदेखी है। साथ ही चुनाव आयोग ने कहा कि आप एक बड़े राजनीतिक दल के सम्मानित नेता है, आपको जनता के बीच ऐसे बयान देने से बचना चाहिए।

चुनाव आयोग साक्षी महाराज के जवाब से संतुष्ट नहीं हुआ है और कहा है कि यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान उनकी चुनावी गतिविधियों की निगरानी की जायेगी। गौरतलब है कि साक्षी महाराज ने पिछले दिनों मेरठ में एक कार्यक्रम में कहा था कि जनसंख्या वृद्धि के लिए चार बीवी व 40 बच्चे वाले लोग जिम्मेवार हैं। उनके इस बयान पर आयोग ने उन्हें नोटिस भेज कर स्पष्टीकरण पूछा था।

इस बयान पर चुनाव आयोग ने उन्हें आचार संहिता तोड़ने के आरोप में नोटिस भेजा था। नोटिस में मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट के प्रावधानों का जिक्र करते हुए कहा गया था कि नेता जाति या संप्रदाय से जुड़ी भावनाएं नहीं भड़का सकते। आयोग ने जनप्रतिनिधि कानून, 1951 के अनुच्छेद 125 का भी हवाला दिया था जिसके तहत अलग-अलग समुदायों के बीच चुनावी फायदे के लिए वैमनस्य फैलाना अपराध करार है।