शिष्‍याओं की मदद से ऐसे रास रचाता था यह बाबा

नई दिल्ली (5 जुलाई): एक महिला के द्वारा रेप का आरोप लगाने के बाद बाबा रजनीश ग्रोवर अंडरग्राउंड हो गया। लेकिन पुलिस जांच में पता चला है कि उसकी खास शिष्याएं महिलाओं को बाबा के पास एकांत में भेजने का काम करती थीं। दूसरी ओर मामले सामने आते ही दिल्ली पुलिस भी सक्रिय हो गई है।

बता दें कि छतरपुर के रहने वाले कथित बाबा रजनीश ग्रोवर एक ओर अपने प्रवचनों में अनुयायियों को सात्विक जीवन जीने का उपदेश देता था और दूसरी महिलाओं के साथ अश्लील हरकतें करता था। कुछ शिष्याएं उसकी खास थीं। ये शिष्याएं ही महिलाओं को बाबा से अकेले में मिलने के लिए प्रेरित करती थीं। वे महिलाओं से कहती थीं कि 'जिन्हें बाबा का आशीर्वाद मिल जाता है उन्हें स्वर्ग की प्राप्ति होती है।

दिल्ली पुलिस जांच के लिए ग्रोवर के ठिकानों पर गई, सभी जगह ताले मिले। आस-पड़ोसियों ने पुलिस को बताया कि ग्रोवर एक साल से लोगों से ज्यादा बातचीत नहीं करता था। मामले पर जवाहर सर्किल थाना पुलिस ने जांच और बाबा को पकड़ने के लिए विशेष टीम गठित कर दी है।

इस बाबा का नाम है रजनीश ग्रोवर उर्फ अशोक कुमार, जो दिल्ली में छतरपुर रोड के एक सत्संग स्थल पर हर सोमवार को सत्संग करता है। जयपुर की रहने वाली पीड़िता ने बाब पर नशीला बिस्कुट खिला रेप करने का आरोप लगाया है। पीड़िता का कहना है कि बाबा ने उसकी मां की भी आपत्तिजनक फोटो दिखाई थी।