सायना नेहवाल: एक चैंपियन का दर्द...

नई दिल्ली (20 अगस्त): भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल जिन्होंने बैडमिंटन में चीन का दबदबा तोड़ते हुए लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। हालांकि रियो में वह कुछ ज्यादा नहीं कर पाई, लेकिन फिर भी हमें उसे भूलना नहीं चाहिए। आज ही उनके दाएं पैर के घुटने की सर्जरी हुई है, जिसकी एक फोटो उन्होंने पोस्ट की है।

टीवी के सामने बैठकर एक खिलाड़ी की आलोचना करना बहुत आसान होता है, लेकिन जैसा की सचिन तेंदुलकर ने कहा कि कोई भी खिलाड़ी हारना नहीं चाहता। वह अपना बेस्ट परर्फोमेंस मैदान पर देता है। ऐसा ही कुछ करना चाहा भारत की बेटी सायना ने भी, लेकिन इस बार वह चूक गई।

हम आज सायना के बारे में इसलिए बात कर रहे हैं कि आज ही मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में उनके घुटने का ऑपरेशन हुआ है। जिसकी एक फोटो उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट की है। उन्हें 1 अगस्त से घुटने में दर्द था जो 8 अगस्त को काफी बढ़ गया, लेकिन भारत की इस बेटी ने मैदान नहीं छोड़ा चाहे वह मुकाबला हार गई हो।

मीडिया में इस बारे में आज बहुत ही कम बात होगी, क्योंकि हम सफलताओं को भी इतनी जल्दी भूल जाते हैं जिनता दुर्घटनाओं को। सायना भारत की वह पहली बेटी है, जिसने बैडमिंटन में देश के सपनों को साकार करने का काम किया।

उपलब्धिया: एकल     खेलीं     जीती     हारी     अंतर कुल     442     315     127     +188 वर्तमान वर्ष 18 सितम्बर 2015 तक      36     29     7     +22

युगल     खेलीं     जीती     हारी     अंतर कुल     33     9     24     −15

 

प्रतियोगिता     2008    2012

ग्रीष्मकालीन ओलम्पिक:     क्वार्टर फ़ाइनल     कांस्य

प्रतियोगिता     2006    2010 राष्ट्रमंडल खेल    कांस्य     स्वर्ण

प्रतियोगिता     2004     2008 राष्ट्रमंडल युवा खेल:     रजत     स्वर्ण      एकल प्रतियोगिताएं प्रकार     कुल खिताब सुपर सीरीज प्रीमियर 5 सुपर सीरीज     4 ग्रैंड प्रीक्स एंड गोल्ड 7 कुल     16