सहारनपुर: एम्बुलेंस में नहीं था तेल, तड़पती रही प्रेग्नेंट महिला

लखनऊ(14 जून): उत्तर प्रदेश में जन्म प्रसव से पहले देखभाल व मैटरनल हेल्थ की पोल खुल गई। अखिलेश यादव की सरकार में जिस एबुलेंस को मरीजों की सेवा के लिए लगाया गया था उसमें तेल तक नहीं है।


- यूपी में स्वास्थ्य सेवाओं का यही हाल है। एबुलेंस में तेल नहीं होता है। कहीं हॉस्पिटल में भर्ती करने के एवज में मरीज से रूपये मांगे जाते हैं। नवजात शिशु हॉस्पिटल के गेट पर दम तोड़ने को मजबूर है।



- सहारनपुर में एबुलेंस की उपलब्धता के लिए प्रसव पीडि़त महिला तड़पती रही लेकिन जब एक घंटे तक भी एबुलेंस नही आई तो पति प्राइवेट कार से अपनी पत्नी को लेकर जिला अस्पताल गया।


- गर्भवती महिला 32 वर्षीय रूपा को उसका पति मंगलवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया।


- यहां डाक्टर शर्मिष्ठा ने प्राथमिक जांच के बाद उसे जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। रुपा के पति ने एबुलेंस के लिए 108-102 को कॉल किया गया लेकिन एबुलेंस नही आई।


- बाद में एबुलेंस के चालक ने कहा कि एम्बुलेंस में तेल नहीं है। करीब एक घंटा तक महिला सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के गेट पर  प्रसव पीड़ा से महिला घंटों कराहती रही लेकिन एम्बुलेंस नहीं आई।


- बाद में उसके पति ने प्राइवेट कार की और महिला को जिला अस्पताल ले आया।