प्रज्ञा ठाकुर का पहला सियासी बयान- गांधी जी का सम्मान करती हूं, गोडसे पर मांगी माफी

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(16 मई): प्रज्ञा ठाकुर ने नाथूराम गोडसे को लेकर दिए गए बयान माफी मांग ली है। विवाद के बाद प्रज्ञा ने कहा- अपने संगठन भाजपा में निष्ठा रखती हूं, उसकी कार्यकर्ता हूं और पार्टी की लाइन मेरी लाइन है और अगर मेरे बयान से किसी की भावना आहत हुई है तो मैं माफी मांगती हूं। इस बीच साध्वी प्रज्ञा के दिए विवादित बयान पर चुनाव आयोग ने  रिपोर्ट मांगी है।

-बता दें कि फिल्म अभिनेता से नेता बने कमल हासन पर पलटवार करते हुए प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, देशभक्त हैं और देशभक्त रहेंगे। उन्हें आतंकवादी कहने वाले लोग अपने गिरेबान में झांकें। इस चुनाव में ऐसे लोगों को जवाब दे दिया जाएगा। प्रज्ञा ठाकुर के इस बयान के बाद विपक्ष लगातार बीजेपी पर हमला बोल रही है।

-साध्वी प्रज्ञा के नाथूराम गोडसे वाले बयान पर बीजेपी ने पल्ला झाड़ लिया है। बीजेपी ने कहा है कि यह साध्वी प्रज्ञा का व्यक्तिगत बयान है, इस बयान का पार्टी से कोई लेना देना नहीं।बीजेपी ने कहा है कि हम साध्वी से इस मामले में माफी मांगने के लिए भी बोलेंगे। बता दें कि साध्वी प्रज्ञा ने कमल हसन के नाथूराम गोडसे को आजाद भारत का हिन्दु आतंकी वाले बयान पर  हमला बोला था।

-अभिनेता कमल हसन के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए साध्वी प्रज्ञा ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहा था। आगे प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था कि नाथूराम गोडसे को आतंकवादी कहने वाले लोगों को अपने गिरेबां में झांककर देखना चाहिए, ऐसे लोगों को जनता चुनाव में मुंहतोड़ जवाब देगी।