साध्वी प्राची की मांग, जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन

पंकज कौशिक, नई दिल्ली (27 अगस्त): विहिप की फायर ब्रांड नेता साध्वी प्राची ने कश्मीर के हालात पर चिंता जताते हुए वहां राष्ट्रपति शासन लगाने की अपील की है। पाकिस्तानी झंडे लहराये जाने और सुरक्षा बालों पर पथराव और पेलेट गैन का प्रयोग किये जाने के बाद जारी कर्फ्यू के बाद उन्होंने ईट का जबाव पत्थर से देने के लिए भी कहा। 

साध्वी प्राची ने कहा है कि यह समय महबूबा को मनाने का नहीं है बल्कि बदतर हालात को देखते हुए मेहबूबा को हटाना चाहिए क्योंकि वहां के हालात बहुत बदतर है। उन्होंने कहती है कि ऐसा होने पर महबूबा अपने महबूब के साथ चली जाएँगी और भाजपा देखती ही रह जायेगी।

- भाजपा द्वारा हिंदुत्व के मुद्दे को छोड़ने को लेकर साध्वी प्राची का कहना है कि भाजपा ने दिल्ली और बिहार में हिंदुत्व को छोड़ा और वह क्या हालात हुए सबके सामने है। - उन्होंने कहा कि अगर यूपी मे भी हिंदुत्व को छोड़ा गया तो यहाँ हालात उससे भी बुरे हो सकते है और भाजपा की दुर्दशा ही सकती है।  - उन्होंने नरेंद्रमोदी को सच्चा देशभक्त बताते हुए कहती है कि गौभक्तों के बल पर ही उन्होंने हिन्दुस्तान की सत्ता संभाली है और इनको मत भूलों, वे कहती है की यह गौरक्षक है इनको गौभक्षक मत कहो यह गौसेवकों के साथ अन्याय होगा ।