'सुपर ओवर' विवाद पर सचिन तेंदुलकर ने दिया ये नया सुझाव

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (16 जुलाई):  महान भारतीय बल्लेबाज़ सचिन तेंदुलकर ने मंगलवार को विश्व कप फाइनल जैसी स्थिति आने पर ‘बाउंड्री’ की संख्या के आधार पर विजेता का निर्धारण करने के बजाय एक दूसरा सुपर ओवर खेलने की वकालत की। लॉर्ड्स में रविवार को खेले गये फाइनल में इंग्लैंड को अधिक बाउंड्री लगाने के कारण विजेता घोषित किया गया। न्यूजीलैंड के खिलाफ उसका मैच और सुपर ओवर दोनों टाई छूटे थे।

तेंदुलकर ने 100एमबी से कहा, ‘मुझे लगता है कि दोनों टीमों की बाउंड्री पर विचार करने के बजाय एक अन्य सुपर ओवर से विजेता का फैसला होना चाहिए था। केवल विश्व कप फाइनल ही नहीं, प्रत्येक मैच महत्वपूर्ण है। जिस तरह से फुटबाल में जब टीमें अतिरिक्त समय में जाती है तो पूर्व का खेल कुछ मायने नहीं रखता।’ तेंदुलकर से पूछा गया कि नॉक-आउट चरण में विश्व कप के प्रारूप में बदलाव की जरूरत है, उन्होंने कहा, ‘जो दो टीमें चोटी पर रहती हैं उनके लिये निश्चित तौर पर निरंतर अच्छा प्रदर्शन करने के लिये कुछ होना चाहिए।’

विश्व कप 2019 के फाइनल में न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 8 विकेट पर 241 रनों का स्कोर खड़ा किया था। जवाब में उतरी इंग्लैंड की टीम ने 50 ओवर में इतने ही रन बना दिए। मैच टाई हो गया था। इसके बाद मैच का निर्णय सुपर ओवर से निकालने का फैसला हुआ था जिसमें इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 15 रन बनाए और 16 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी कीवी टीम ने भी 15 रन ही बना लिए। सुपर ओवर भी टाई हो चुका था लेकिन नियमों के मुताबिक ऐसी स्थिति में वो टीम विजेता मान ली जाती है जिसने मैच में ज्यादा बाउंड्री जड़ी हैं। इंग्लैंड के नाम 26 बाउंड्री थी जबकि न्यूजीलैंड के नाम कुल 17 बाउंड्री दर्ज थीं। इसके चलते इंग्लैंड नया विश्व कप चैंपियन बन गया।