सचिन की ऑटोबायोग्राफी ‘लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्‍स’ में शामिल

नई दिल्ली(19 फरवरी): महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर की आत्मकथा 'प्लेइंग इट माय वे' लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड्स में शामिल हो गई है। बुक फिक्शन और नॉन फिक्शन दोनों कैटेगरी में बेस्टसेलर साबित हुई है। ऑटोबायोग्राफी ने दुनिया की टॉप हार्डबुक्स जेके राउलिंग की 'केजुअल वेकेन्सी', वॉल्टर इसाकसन की 'स्टीव जॉब्स' और डेन ब्राउन की 'इन्फर्नों' को पीछे छोड़ दिया है।

इस बुक की 13 करोड़ 51 लाख कॉपियां बिक चुकी हैं। ऑटोबॉयोग्राफी को सचिन तेंडुलकर के अलावा क्रिकेट एक्सपर्ट बोरिया मजूमदार ने लिखा है। बुक की कीमत 899 रुपए है।

सचिन ने अपनी आत्मकथा में ग्रैग चैपल और कपिल देव पर आलोचना के बहाने कड़ी टिप्पणी की। "प्लेइंग इट माय वे" में सचिन ने दावा किया है कि वो अपनी जिंदगी का सच लोगों को बता रहे हैं। सचिन ने कहा था कि उनका इरादा कोई विवाद खड़ा करना नहीं है। बिक्री शुरू होने से पहले तक (छह नवंबर को सुबह 11 बजकर 30 मिनट तक) कुल डेढ़ लाख कॉपियों के ऑर्डर मिल गए थे।