भारतीय महिला क्रिकेटरों से मिले सचिन, झूलन और मिताली के तारीफों के बांधे पुल

नई दिल्ली (19 जुलाई):  महिला वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल का कल दूसरा मुकाबला होना है। ये मुकाबला भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होना है। इस अहम मुकाबले से ठीख पहले क्रिकेट के भगवान कहने जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों से मुलाकात की और उनका हौसला अफजाई की। सचिन ने उन्हें वर्ल्ड जैसे बड़े मैच के दबाव के बीच कैसे शांत रहा जाता है और बढ़ियां प्रदर्शन किया जाता है जैसे गुर बताए।

इस मुलाकात के बाद सचिन ने सोशल नेट वर्किंग साइट इंस्टाग्राम पर महिला टीम इंडिया के तेज गेंदवाज और वनडे में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाली झूलन गोस्वामी और टीम इंडिया के कप्तान मिताली राज की जमकर तारीफें की। सचिन ने झूलन के बारे में कहा कि वह समाज के लिए प्रेरणा स्रोत हैं। सचिन ने भारत के अहम मैच से पहले टीम और झूलन को शुभकामनाएं दीं और लिखा-

 

मुझे झूलन गोस्वामी से मिल कर बहुत खुशी हुई। जहां तक उसे याद है, उसके होने का मतलब इंडिया के लिए क्रिकेट खेलना रहा। युवा झूलन ने हर मुश्किल का सामना करके क्रिकेट को चुना। वह रोज 80 किलोमीटर ट्रेन में सफर करतीं, ऐसे परिवार से आई जहां यह मान्यता थी कि क्रिकेट लड़कियों के लिए एक अच्छा प्रोफेशन नहीं है। वह रोज सुबह साढ़े चार बजे लोकल ट्रेन से क्रिकेट खेलने जाती थीं। यह खेल के प्रति उसका प्रेम नहीं तो क्या था? झूलन का खेल के प्रति जुनून उनके हर परफॉरमेंस में झलकता है। झूलन आप सही मायनों में एक प्रेरणा हैं।

इसके साथ ही सचिन ने मिताली राज की भी तारीफ की। उन्होंने लिखा कि मिताली के पिता वायु सेना अधिकारी थे। वह मिताली की देर तक सोने की आदत से परेशान थे। इसे दूर करने के लिए वह भाई के साथ मिताली को भी क्रिकेट कोचिंग की अकादमी ले जाने लगे। उस समय अगर 8 साल की मिताली को कोई यह कहता कि आगे चलकर वह महिला वनडे क्रिकेट के सभी रेकॉर्ड तोड़ेगी तो शायद उसे यकीन आता या नहीं भी आता। बस एक लम्हे की बात होती है जब आप प्रतिभा को पहचानकर उसे सही दिशा देते हैं।