Blog single photo

सचिन और बिन्नी बंसल को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का भेजा

ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट के फाउंडर और को-फाउंडर सचिन बंसल और बिन्नी बंसल को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से टैक्स नोटिस भेजा है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने सचिन बंसल और बिन्नी बंसल को ये नोटिश वॉलमार्ट डील मामले में भेजा है

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 नवंबर): ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट के फाउंडर और को-फाउंडर सचिन बंसल और बिन्नी बंसल को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से टैक्स नोटिस भेजा है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने सचिन बंसल और बिन्नी बंसल को ये नोटिश वॉलमार्ट डील मामले में भेजा है। जानकारी के मुताबिक, आईटी विभाग ने सचिन बंसल, बिन्नी बंसल से कैपिटल गेन्स टैक्स भुगतान की जानकारी मांगी है। आपको बता दें कि कुछ महीनों पहले फ्लिपकार्ट को अमेरिकी रिटेल कंपनी वॉल्मार्ट ने खरीदा है। इस डील के बाद सचिन और बिन्नी बंसल को बड़ी रकम मिली है।आपको बता दें कि 9 मई को वॉलमार्ट इंटरनैशनल होल्डिंग और फ्लिपकार्ट के बीच शेयर-परचेज अग्रीमेंट पर दस्तखत हुए थे। डील के मुताबिक वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट के 77 प्रतिशत शेयरों को करीब 16 अरब डॉलर में खरीदा था। इससे पहले आईटी ने वॉलमार्ट को नोटिस जारी कर उनसे फ्लिपकार्ट के 46 शेयरहोल्डरों के बारे में डीटेल की मांग की थी और पूछा था कि इस डील से इन शेयरहोल्डरों को कितना फायदा हुआ है। सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक, बंसल से पूछा गया है कि वह बताएं कि उन्हें अपने वेंचर को वॉलमार्ट को बेचने पर कितनी रकम मिली थी। इस बीच बिन्नी बंसल ने आयकर नोटिस भेजे जाने के बारे में हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि आईटी ने उनसे शेयरों की बिक्री और अडवांस टैक्स के बारे में पूछा था, जिसका जवाब उन्होंने दे दिया है। वहीं, सचिन बंसल ने टाइम्स ऑफ इडिया के फोन कॉल्स और टेक्स्ट मेसेज का जवाब नहीं दिया है।बिन्नी और सचिन बंसल को आईटी का नोटिस 18 अक्टूबर को भेजा गया था। सूत्रों के मुताबिक दोनों ने अभी तक नोटिस का जवाब नहीं भेजा है। उन्होंने बताया कि अन्य भारतीय शेयरहोल्डर्स के जवाब आने शुरू हो गए हैं। आईटी नोटिस के बाद वॉलमार्ट ने इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में विदहोल्डिंग टैक्स के तौर पर 7,439 करोड़ रुपये जमा कराया था। इस विदहोल्डिंग टैक्स से असंतुष्ट आयकर विभाग ने वॉलमार्ट इंटरनैशनल होल्डिंग्स को फिर से नोटिस भेजकर पूछा है कि प्रत्येक शेयरहोल्डर को को किए गए भुगतान पर कितना टैक्स काटा गया है।

Tags :

NEXT STORY
Top