अब पाक परमाणु मिसाइल को उसकी ही धरती पर मार गिराएगा भारत, विमानों को उड़ने से पहले ही कर सकेगा ध्वस्त

नई दिल्ली (15 अक्टूबर): भारत और रूस के बीच हुए समझौतों में सबसे अहम खबर यह है कि अब भारतीय बॉर्डर जल्द ही एस-400 ट्राईयूफ्म मिसाइल सिस्टम से लैस होने वाले हैं। यह ऐसा मिसाइल सिस्टम है, जिसके आगे अमेरिका भी पानी भरता है।

आपको बता दें कि पाकिस्तानी नेता समय-समय पर अपने परमाणु बमों की धमकी देते रहते हैं, लेकिन बॉर्डर पर एस-400 ट्राईयूफ्म मिसाइल सिस्टम लगने के बाद वह यह धमकी देना भूल जाएंगे। इस सिस्टम की मदद से पाकिस्तान के परमाणु बमों को भारत उसकी धरती पर ही मार गिराएगा। यहीं नहीं यह मिसाइल सिस्टम एक साथ 36 निशाने लगा सकती हैं। यानि अगर पाकिस्तान की मिसाइल हमारे किसी विमान या संस्थान पर हमले करने की कोशिश करेगी तो ये मिसाइल सिस्टम वक्त रहते ही उसे नेस्तानबूत करने में सक्षम साबित होगी।

ये एंटी-बैलिस्टक मिसाइल है यानि आवाज की गति से भी तेज रफ्तार से ये हमला बोल सकती है।

मिसाइल नहीं है एस-400 एस-400 दरअसल एक मिसाइल नहीं है, यह एक एंटी-मिसाइल सिस्टम है जो एयर-डिफेंस के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

- ये सिस्टम दुश्मन की मिसाइल, लड़ाकू-विमान और ड्रोन से लड़ने के लिए तैयार किया जाता है। - एस-400 दुश्मन के फाइटर प्लेन को उड़ने से पहले यानि रनवे पर ही ध्वस्त कर सकने में कारगर है। - ये एक साथ 300 टारगेट को ट्रैक कर सकती है और 400 किलोमीटर के रेंज में तीन दर्जन टारगेट्स को नेस्तानबूत कर सकती है। - एस-400 एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम यानी यह महामिसाइल दुश्मन की छत्तीस मिसाइलों को एक साथ नेस्तनाबूत कर सकती है। - चार सौ किलोमीटर तक यह मिसाइल दुश्मन के छक्के छुड़ा देती है। - एस-400 एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम यानि इस महामिसाइल का निशाना और मार अचूक है। - यह सबसे एडवांस एयर डिफेंस सिस्टम है। इस सिस्टम से 3 तरह की मिसाइलों को दागा जा सकता है। - एस-400 से विमानों, मिसाइल्स और यहां तक कि ड्रोन्स भी निशाना बनाया जा सकेगा।