रूसी वैज्ञानिकों ने की प्लानिंग, अंतरिक्ष में ही मार गिरायेंगे उल्का पिंड

नई दिल्ली (15 फरवरी): अंतरिक्ष से गिरने वाले उल्का पिंडों से धरती को बचाने के लिये रूस के वैज्ञानिक न्यूक्लियर मिसाइल को अपग्रेड करने की योजना बना रहे हैं। 'डेली मेल डॉट को डॉट यूके'ने रूसी समाचार एजेंसी तास के हवाले से लिखा है कि मैकेयेव रॉकेट डिजाइन ब्यूरो के सीनियर साइंटिस्ट सैबित साइतगराये ने कहा है कि वो 2036 में पृथ्वी के नज़दीक आने वाले उल्का पिंड एपोफिस को अंतरिक्ष में ही नष्ट करने की योजना बना रहे हैं। लेकिन उन्होंने कह कि उनके इस प्रोजेक्ट पर करोड़ों रुपये का खर्च आयेगा।

उन्होंने कहा है कि अगर इस प्रोजेक्ट को मंजूरी मिल गयी तो अंतरिक्ष से पृथ्वी की ओर आने वाले किसी भी उल्का पिंड को गिराने के लिए महज 20 मिनट में मिसाइल को लांच किया जा सकेगा। अभी तक किसी भी आईसीबीएम को लांच करने में कम से कम एक सप्ताह का समय लगता है। सैबित साइतगराये ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि यह परियोजना किसी एक देश की ही होगी या अंतरिक्ष कार्यक्रम सहयोग की तरह ही इसमें किसी का सहयोग लिया जायेगा।