'रूसी खुफिया एजेंसियों ने हैक किये थे हिलैरी के ईमेल्स'

नई दिल्ली (25 जुलाई):  रूसी खुफिया एजेंसियों ने डोनल्ड ट्रंप को फायदा पहुंचाने के लिए हिलैरी क्लिंटन के ईमेल्स को हैक करके उन्हें पब्लिक डोमैन में डाल दिया था। ये आरोप अमेरिकी राष्ट्रपति पद की  डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के चुनाव मीडिया प्रभारी रोबी मूक ने लगाये हैं। फिलाडेलफिया में मीडिया के सामने हिलैरी के रोबी मूक ने कहा कि रूसी खुफिया एजेंसियां चाहती हैं कि अमेरिका का अगला राष्ट्रपति उनकी कठपुतली ही बने। इसलिए उन्होंने हिलैरी पर हमला बोला।

हिलैरी के मीडिया प्रभारी ने कहा कि ट्रंप के हालिया बयान भी रूस के समर्थन में हैं। इससे पहले रूस के राष्ट्रपति पुतिन भी परोक्ष रूप से ट्रंप का समर्थन कर चुके हैं। मूक ने यह भी कहा कि प्रारंभिक जांच बताती हैं कि रूसी एजेंसियों न हिलैरी के ईमेल हैक किए फिर उन्हें विकिलीक्स तक पहुंचाया गया। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि यह स्पष्ट नहीं है कि यह सब कुछ पुतिन के आदेशों से हुआ या फिर पुतिन को खुश करने के इरादे से किया गया।