रूस ने अमेरिकी पत्रकारों पर लगाया बैन, नहीं कर पाएंगे संसद की कवरेज

नई दिल्ली ( 2 दिसंबर ): अमेरिका की तरफ से रूस के सरकारी चैनल को विदेशी एजेंट बताया गया था जिसके बाद जवाबी कार्रवाई के तहत रूस ने देश के संसद के लिए कवरिंग करने वाले अमेरिकी पत्रकारों पर रोक लगाने का निर्णय लिया है। अगले हफ्ते रूस की संसद इसपर विचार करेगी।

रूस का यह निर्णय मीडिया की आजादी पर बड़ा सवाल होगा। दरअसल, रूस ने एक नियम बनाने का निर्णय लिया है जिसके तहत रूसी संसद के निचले सदन डूमा की कवरिंग के लिए अमेरिकी पत्रकारों पर रोक लगाई जाएगी।

नियामक व नियंत्रण पर डूमा के चैंबर्स कमेटी के हेड ओल्‍गा सावास्‍टिनोवा ने कहा कि वह डूमा से अमेरिकी पत्रकारों पर रोक लगाए जाने वाले प्रस्‍ताव का परीक्षण कर रही थी। इससे पहले रूस की संसद के ऊपरी सदन ने सर्वसम्मति से एक विधेयक पारित किया और सरकार को अधिकार दिया कि वह अंतरराष्ट्रीय मीडिया समूहों को ' विदेशी एजेंट' घोषित कर दे।

इससे पहले अमेरिका वित्त विभाग ने रूस के सरकारी चैनल को 'आरटी' विदेशी एजेंट करार दिया था। जिसके बाद रूस द्वारा यह कदम उठाया गया है।