रूस ने खोला बंद पड़ा सबमरीन बेस, थर्ड वर्ल्ड वार की आशंका बढ़ी

नई दिल्ली (3 मई): अमेरिका और नॉर्थ कोरिया के बीच तनातनी सीधे तीसरे युद्ध की तरफ संकेत दे रहे हैं। ऐसे में इस खबर को रूस ने तब हवा दे दी, जब उनके 2008 से वीरान पड़े अपने सबमरीन बेस को फिर से खोल दिया। नेवी का ये बेस फिनलैंड के बॉर्डर के पास है।


यूएस कोस्ट गार्ड के हेड एडम पॉल के मुताबिक, रूस के इस कदम से बाल्टिक देश एस्टोनिया, लात्विया और लिथुआनिया, फिनलैंड, स्वीडन के अलावा नाटों देश पर जंग का खतरा मंडरा रहा है। क्योंकि, रूस पेट्रोलियम पदार्थ और नैचुरल गैस से भरे बाल्टिक सागर में दबदबा बनाने के लिए किसी भी हद तक जा सकता है।


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, फरवरी, 2014 में रूस ने पड़ोसी देश यूक्रेन के क्रीमिया प्रायद्वीप पर कब्जा कर लिया था। इसके बाद से ही रूस ने वीरान पड़े कई सीक्रेट आर्मी बेस को खोलना शुरू कर दिया। इन बेस पर आर्मी का जमावड़ा है और अब ये आधुनिक हथियारों से लैस किए जा रहे हैं। इनमें से कई बेस अंडरग्राउंड है, जिन्हें ऊंचाई से देखा नहीं जा सकता।