रूस ने भारत विरोधी चीनी साजिश को किया नाकाम

नई दिल्ली (2 सितंबर): डोकलाम विवाद  पर चीन ने रूस को भारत विरोधी बयान जारी करने के लिए खूब दबाव बनाया। अपनी दोस्ती और संबंधों का भी वास्ता दिया लेकिन रूस ने चीन की एक नहीं मानी। रूस, इस मुद्दे पर तटस्थ हो गया, उसने भारत के खिलाफ एक भी शब्द बोलने से इंकार कर दिया। जब रूस टस से मस नहीं हुआ तो 28 तारीख को चीन ने डोकलाम से सेनाएं हटाने पर सहमति जाहिर की। डोकलाम मुद्दे पर जब मीडिया ने चीन में रूसी राजदूत आंद्रे डेनिसोव से सवाल पूछे तो उन्होंने कहा भारत और चीन दोनों ही उनके दोस्त हैं। दोनों परस्पर वार्ता के जरिए इस विवाद के निपटारे में सक्षम हैं। हमें या किसी अन्य को इस मामले में हस्तक्षेप की आवश्यकता नहीं है।