दुनिया को डराने के लिए रूस ने दिखाई ताकत, सैन्य अभ्यास में 3 लाख जवान, 1000 लड़ाकू विमान शामिल


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 11 सितंबर ):  रूस ने पश्चिमी देशों को अपनी ताकत दिखाने के लिए मंगलवार से अब तक का सबसे बड़ा सैन्य अभ्यास शुरू किया। यह शीतयुद्ध के बाद का सबसे बड़ा सैन्य अभ्यास बताया जा रहा है। पश्चिमी साइबेरिया क्षेत्र में शुरू हुए इस सैन्य अभ्यास में चीन और मंगोलिया की सेनाएं भी हिस्सा ले रही हैं।





मंगलवार को शुरू हुए सैन्य अभ्यास के बारे में रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि वोस्तोक-2018 में पूर्वी और मध्य सैन्य डिस्ट्रिक्ट्स के सदस्यों, पैसिफिक एंड नार्थन फ्लीट्स, एयरबोर्न फोर्स, 1000 से ज्यादा विमान, 36,000 के आसपास टैंक और सशस्त्र वाहन भाग ले रहे हैं।




एक सप्ताह तक चलने वाले इस सैन्य अभ्यास को 'वोस्तोक-2018' नाम दिया गया है। राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन देश के पश्चिमी शहर व्लादिवोस्तक में आर्थिक फोरम की मेजबानी करने के बाद इस सैन्य अभ्यास को देखने जा सकते हैं। इस आर्थिक फोरम के प्रमुख अतिथियों में चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग भी शामिल हैं।



यह सैन्य अभ्यास ऐसे समय पर किया जा रहा है जब रूस और पश्चिमी देशों में तनाव बढ़ता जा रहा है। इन देशों ने रूस पर पश्चिमी मामलों में दखल देने का आरोप लगाया है। इसके अलावा यूक्रेन और सीरिया में चल रहे संघर्ष को लेकर भी तनातनी चल रही है। पिछले माह रूसी राष्ट्रपति भवन क्रेमलिन के प्रवक्ता दमित्री पेस्कोव ने कहा था कि वर्तमान अंतरराष्ट्रीय हालात में रूस अपनी रक्षा करने में सक्षम है।