खुलकर भारत के समर्थन में आया रूस, पाकिस्तान को लगाई फटकार

नई दिल्ली (30 सितंबर): पीएम नरेंद्र मोदी की पाकिस्तान को अलग-थलग करने की कूटनीति काम करती हुई नजर आ रही है। अमेरिका के बाद अब रूस ने पाकिस्तान को आतंकवादियों को शह देने से बाज आने की नसीहत दी है।

रूसी विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा है कि हम आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का समर्थन करते हैं। किसी भी तरह का आतंकवाद हमें मंजूर नहीं। रूसी ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि पाकिस्तान सरकार अपनी धरती पर आतंकी समूहों की गतिविधियों पर लगाम लगाने के लिए मजबूत कदम उठाएगी। रूस से ठीक पहले अमेरिका ने पाकिस्तान को ऐसी ही नसीहत दी थी।

पाकिस्तान के लिए रूस का इस तरह साथ छोड़ना एक बड़ा झटका है क्योंकि भारत के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से ही पाकिस्तान के रक्षा सचिव और डीजीएमओ यूएन सुरक्षा परिषद के पांचों सदस्यों अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, फ्रांस और चीन के राजदूतों के सामने अपना पक्ष रखने के साथ-साथ भारत के खिलाफ मुहिम छेड़ने में जुटे थे।

लेकिन अब रूस की इस घुड़की के बाद पाकिस्तान की भारत विरोधी मुहिम को कड़ा झटका लगा है। वो फिर अलग-थलग पड़ता दिख रहा है। रूस के इस बयान से कुछ घंटे पहले श्रीलंका ने भी सार्क सम्मेलन में भाग नहीं लेने का ऐलान किया था।